Recent Posts

Archive

Tags

No tags yet.

तांत्रोत्क श्री-विद्या-साधना का क्या रहस्य है ? क्या है श्रीविद्या-साधना की प्रमाणिकता एवं सिद्धांत


श्रीविद्या साधना की प्रमाणिकता एवं प्राचीनता;- 03 FACTS;- 1-एक बार पराम्बा पार्वती ने भगवान शिव से कहा कि आपके द्वारा प्रकाशित तंत्रशास्त्र की साधना से मनुष्य समस्त आधि-व्याधि, शोक-संताप, दीनता-हीनता से मुक्त हो जायेगा। किंतु सांसारिक सुख, ऐश्वर्य, उन्नति, समृद्धि के साथ जीवन-मरण के चक्र से मुक्ति कैसे प्राप्तहो इसका कोई उपाय बताईये। भगवती पार्वती के अनुरोध पर कल्याणकारी शिव ने श्रीविद्या साधना प्रणाली को प्रकट किया। 2-श्रीविद्या साधना भारतवर्ष की परम रहस्यमयी सर्वोत्कृष्ट साधना प्रणाली मानी जाती है। ज्ञान, भक्ति, योग, कर्म आदि समस्त साधना प्रणालियों का समुच्चय (सम्मिलित रूप) ही श्रीविद्या-साधना है। 3-श्रीविद्या साधना की प्रमाणिकता एवं प्राचीनता जिस प्रकार अपौरूषेय वेदों की प्रमाणिकता है उसी प्रकार शिव प्रोक्त होने से आगमशास्त्र (तंत्र) की भी प्रमाणिकता है। सूत्ररूप (सूक्ष्म रूप) में वेदों में, एवं विशुद्ध रूप से तंत्र-शास्त्रों में श्रीविद्या साधना का विवेचन ह